97+ Baat Nahi Karne Ki Shayari (May 2022) | बात नहीं करने की शायरी

baat nahi karne ki Shayari– क्या आपका प्यार नाराज हो गया है और आपसे बात नहीं कर रहा है | क्या आपकी पत्नी नाराज होकर आपसे बात नहीं कर रही है | क्या आपका पति आपसे बात नहीं कर रहा है | मैं आज बात नहीं करने की शायरी (Baat nahi karne ki shayari) लेकर आया हूँ | यहाँ फेमस वो बात नहीं करते शायरी (wo baat nahi karte Shayari) लिखी गयी है | यहाँ पढे 91+ Heart Touching Baat Nahi karne ki Shayari in Hindi |

आप इन शायरियों में से पसंदीदा बात नहीं करते शायरी (baat nahi karte Shayari) को अपने पति या पत्नी को भेज सकते है | यहाँ कई सारी मस्त शायरियाँ लिखी गयी है | अपने प्यार को ये शायरी भेजे वो आपसे वापस बात करने लगेगा | आप दोनों के बीच वापस बाते होने लग जाएगी | तो अपनी पसंद की शायरी चुने और तुरंत भेज दे |

बात नहीं करने की शायरी (Baat Nahi Karne ki Shayari)

नादान है बहुत वो ज़रा
समझाइए उसे
बात न करने से मोहब्बत
कम नहीं होती |

हिचकियाँ कहती हैं कि
तुम याद करते हो
पर बात नहीं करोगे तो
एहसास कैसे होगा |

मुझे एक ऐसा ताबीज चाहिये
जो मुझे उससे मिला दे या फिर भुला दे !

नफ़रत हो जायेगी तुझे अपने
ही किरदार पे
अगर में तेरे हि अंदाज मे
तुझसे बात करुं |

बात तो वो आज भी करती है
बस फर्क़ इतना है, कल हमसे करती थी
आज किसी और से करती है |

कितना फर्क हैं ना हम दोनो की चाहत में
मुझे तुम्हे याद करने से फुर्सत नही
और तुम्हे मुझे याद करने की फुर्सत नही |

baat nahi karne ki shayari

आज जिंदा है तो किसी के पास
एक मिनट नही बात करने को
कल जब हम नही रहेंगे तो सब
याद करेंगे कितना अच्छा था वो |
Baat Nahi Karne ki Shayari

तरस जाओगे मेरे लबों से कुछ सुनने को,
बात करना तो दूर हम शिकायत भी नहीं करेंगे।

बात नहीं करना तो बस एक बहाना है,
सच तो यह है कि तुम्हारा हमसे जी भर गया है।

Heart Touching Baat Nahi karne ki Shayari

आप हम से बात नहीं करते
और हम आप के बिना
कोई ख्वाब नहीं देखा करते |

बात नहीं करना सिर्फ एक
बहाना था उनका
असली मंज़िल तो हमें
रुलाना था उनकी |

मेरी पलकों की नमी इस बात की गवाह है,
मुझे आज भी तुमसे मोहब्बत बेपनाह है |

ये जो तुम मुझसे बात नहीं करती
ये नफरत की निशानी है या
प्यार हो जाने का डर |

चाहे कितना भी क्यूँ ना हम
नराज हो जाए लेकिन तुमसे बात
किये बिना जी नही लगता हैं दर्द
भी तुमसे मिलता हैं और खुशी भी
तुमसे ही मिलती है |

baat nahi karte shayari

कल तक हमसे बात किये बिना,
जिसे नींद तक नहीं आती थी,
आज हमसे बात करने का,
वक्त नहीं उसके पास।

बिन बात के ही रूठने की आदत है,
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है,
आप खुश रहें, मेरा क्या है,
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

सिर्फ़ एक सफ़ाह पलटकर उसने,
बीती बातों की दुहाई दी है,
फिर वहीं लौट के जाना होगा,
यार ने कैसी रिहाई दी है |

Birthday wishes for wife in Hindi

Pyar Baat Nahi Karne ki Shayari

कभी किसी से बात करने की आदत मत डालना,
क्यों की अगर वो बात करना बंद कर दे तो,
दुबारा जीना मुश्किल हो जाता है।

ना जाने ये कैसा तरीका है तुम्हारे
प्यार करने का
की तुम्हारा मन ही नहीं करता
हमसे बात करने का |

मैंने आपको हर समय मनाया है
मैं तुम्हें हर समय चाहता हूँ
पर तुमने तो मुझसे बात करना ही छोड़ दिया
जब मुझे तुम्हारी बहुत याद आती है |

wo baat nahi karte shayari

बातें तो हर कोई समझ लेता है
मगर हम वो चाहते हैं
जो हमारी खामोशी को समझे |

कुछ दिन बात ना करने से कोई बेगाना नहीं होता,
कोई भी दोस्त इतना पुराना नहीं होता,
दोस्ती में गिले-शिकवे तो चलते रहते हैं,
पर इसका मतलब दोस्तों को भुलाना नहीं होता।

तेरी हर बात मेरे दिल को छू कर निकलती हैं,
इसीलिए मुझसे सोच समझ कर बात करना,
कही आप की बातें मेरा दिल को तोड़ न दे |

Sad Shayari Baat Nahi Karne ki Shayari

छोड़ दिया मैंने भी किसी को परेशान करना 
जिसकी खुद मर्जी ना हो बात करने की 
उससे जबरदस्ती क्या करना |
Baat Nahi karne ki Shayari

आप हम से बात नहीं करते,
और हम आप के बिना,
कोई ख्वाब नहीं देखा करते।

कभी किसी से बात करने की आदत मत
डालना क्यों की अगर वो बात करना बंद कर दे
तो दुबारा जीना मुश्किल हो जाता है यार |

उसके सिवा किसी को चाहना
मेरे बस में नहीं
ये दिल उसका है अपना
होता तो बात और थी |

wo baat nahi karte shayari in hindi

उनसे बात नहीं होती
किसी और से बात
करने का मन नहीं करता |

मुझे तुमसे बात ही नहीं करनी,
ऐसा कहकर वो कॉल काट देते हैं,
मैं मनाऊं उनको ऐसा सोचकर,
मेरी कॉल का इंतजार करते हैं।

कितना फर्क हैं ना हम दोनो की चाहत में,
मुझे तुम्हे याद करने से फुर्सत नही,
और तुम्हे मुझे याद करने की फुर्सत नही।

fursat baat nahi karne ki shayari

अगर मेरे चले जाने से तू खुश है
तो तुझे तेरी खुशी मुबारक !

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह
हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ
ना तुम समझ सको कयामत तक कसम
तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करता हूँ |

तुझ से दूर रहकर मोहब्बत
बढती जा रही है
क्या कहूँ कैसे कहूँ ये दुरी तुझे
और करीब ला रही है |

मजबूर नहीं करेंगे तुम्हें 
बात करने के लिए 
चाहत होती तो दिल तुम्हारा भी 
करता बात करने का |

बहुत हो गया अब रूठना और मनाना,
चलो दोबारा से शुरुआत करते हैं,
भुलादें सारी गलत फहमियां को,
चलो दोबारा से बात करने का आगाज करते हैं |

बात नहीं करने की शायरी हिन्दी मे

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।

छोड़ दिया मैंने भी किसी को परेशान करना 
जिसकी खुद मर्जी ना हो बात करने की 
उससे जबरदस्ती क्या करना |
Baat Nahi karne ki Shayari

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से,
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से,
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले,
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से |

gussa matlabi baat nahi karne ki shayari 

उम्र सारी दो हिस्सों में बंट गई
आदि गुजरी ख्वाहिशों में
और आदि अफसोस में कट गई..!

गुफ्तगू चाहते हैं जीभर के करना
मगर अफसोस दिल से बात करने वाला
कोई इन्सान ही नहीं मिलता |

जब चाहे याद किआ जब चाहे
भुला दिया
बोहोत अच्छे से जानते है वो हमें
बहलाने का तरीके
जब चाहे हँसा दिया जब चाहे रुला दिया |

कभी वक्त मिले तो सोचना जरूर 
वक्त और प्यार के अलावा 
तुमसे मांगा ही क्या था |

बहुत नादान है वो, कोई समझाओ उसे,
बात ना करने से इश्क कम नहीं होता।

सुना है वो जाते हुए कह गये, 
के अब तो हम सिर्फ़ तुम्हारे ख्वाबो मे आएँगे, 
कोई कह दे उनसे के वो वादा कर ले, 
हम जिंदगी भर के लिए सो जाएँगे |

एक वक्त था जब बाते ही खत्म नहीं होती थी,
आज सब कुछ खत्म हो गया,
मगर बात ही नहीं होती |

जुम्मा शायरी

बात नहीं करने की शायरी इन हिन्दी (Baat nahi karne ki Shayari in Hindi)

तेरे मेरे दरमियां जो बात थी
उसमें अब दूरियां आने लगी है
गमो की बरसात इस
दिल पर छाने लगी है..!

दिल का हाल बताना नहीं आता
किसी को ऐसे तड़पना नहीं आता
सुनना चाहते है आपके आवाज़
मगर बात करने का बहाना नहीं आता |

छोड़ दिया मैंने भी किसी को परेशान करना 
जिसकी खुद मर्जी ना हो बात करने की 
उससे जबरदस्ती क्या करना |
Baat Nahi karne ki Shayari

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी खामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें।

बात ना करने से इश्क कम नहीं होता,
बात ना करने से मोहब्बत कम नहीं हो जाती,
बस दिलों की दूरियां बढ़ने लगती हैं,
और प्यार की डोर धीरे धीरे कमजोर हो जाती है।

रोते हुए को हसाने की क्या सजा पा गया, 
मेरी जिंदगी की खुशी उसको मिली, 
और उसकी जिंदगी का हर गम, 
मेरे हिस्से आ गया |

वो दर्द ही क्या जो आँखों से बह जाए,
वो खुशी ही क्या जो होठों पर रह जाए,
कभी तो समझो मेरी खामोशी को,
वो बात ही क्या जो लफ्ज़ आसानी से कह जायें |

मैंने ढूंढ ढूंढ कर इतनी सारी बात नहीं करने की शायरी (Baat Nahi karne ki Shayari), pyar fursat gussa matlabi sad heart touching baat nahi karne ki shayari भी लिखी लिखी है | यदि वो बात नहीं करते तो आप इसमें से शायरी भेज कर राजी हो सकते है | यदि इसमें पोस्ट में शायरी और लिखने की जरूरत है तो आप कमेंट सेक्शन में बता सकते है | वो बात नहीं करते शायरी (wo baat nahi karte Shayari) भी यहाँ हिन्दी में लिखी गयी है | अपने पति या पत्नी को आपकी पसंद की बात नहीं करते शायरी (baat nahi karte Shayari) भेज सकते हो |

Leave a Comment