भरोसा तोड़ने वाली शायरी (May-2022) Bharosa Shayari

आज मैं यहाँ आपके लिए भरोसा तोड़ने वाली शायरी (Bharosa Todne Wali Shayari) लेकर आया है मैंने यहाँ पर विभिन्न प्रकार की भरोसा तोड़ने वाली शायरी हिन्दी में (Bharosa Todne Wali Shayari in Hindi) लिखी है जिसका प्रयोग आप कही भी किसी भी सोशल मीडिया पर कर सकते है | आजकल अधिकतर लोग अपने व्हाट्सएप पर स्टेटस के रूप में भरोसा स्टेटस लगते है | यदि आप भी भरोसा स्टेटस इन हिन्दी का इस्तेमाल करना चाहते है तो इस पोस्ट में लिखी गयी Sad Bharosa Shayari का प्रयोग करे | यहाँ पर Bharosa Vishwas Quotes in Hindi में साथ में लिखे गए है | उसमें से भी आप Vishwas Shayari का प्रयोग कर सकते है |

भरोसा तोड़ने वाली शायरी (bharosa todne wali shayari)

भरोसा उस पर करो जो
आपकी इन बातो का ख्याल रख सके
​हंसी के पीछे का दुख चुप रहने की
वजह और गुस्से के पीछे का प्यार !

भरोसा कर लिया है मैंने तेरे झूठ पर भी,
तुझे खुदा जो माना है।

वो मुझ को भूल चुका अब यक़ीन है वर्ना
वफ़ा नही तो जफ़ाओ का सिलसिला रखता !

ना रुक ना झुक,
रख भरोसा बस चलता जा,
मंज़िल ना मिले तब तक बस बढ़ता जा।।

भरोसा तोड़ने वाली शायरी

चाहिए ख़ुद पे यक़ीन-ए-कामिल
हौसला किस का बढ़ाता है कोई !

गिर पड़े उस पत्थर से टकरा कर ज़मीं पर हम,
भरोसे की नीव कह जिसे कभी अपनों ने रखा था।

उम्मीदें तैरती रहती हैं कश्तीयां डूब जाती है
कुछ घर सलामत रहते हैं आँधियाँ जब भी आती है
बचा ले जो हर तूफां से उसे आस कहते हैं बड़ा
मज़बूत है ये धागा जिसे विश्वास कहते है।

उसे गुमाँ है कि मेरी उड़ान कुछ कम है
मुझे यक़ीं है कि ये आसमान कुछ कम है !

भरोसा तोड़ने वाले के लिए
बस यही एक सज़ा काफ़ी है
उसको ज़िन्दगी भर के लिए
ख़ामोशी तोहफ़ेे में दे दी जाए !

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा !

हर कदम हर पल हम आपके साथ है भले
ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास है
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हो
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास है !

उम्मीदें तैरती रहती हैं, कश्तीयां डूब जाती हैं
कुछ घर सलामत रहते हैं, आँधियाँ जब भी आती हैं
बचा ले जो हर तूफां से उसे आस कहते हैं
बड़ा मजबूत है ये धागा जिसे विश्वास कहते हैं

भरोसा तोड़ने वाली शायरी इन हिन्दी

विश्वास जीतना बड़ी बात नही है
विश्वास बनाए रखना बड़ी बात है !

एक बार फ़िर शक भरोसे से सबूत मांग रहा है,
हँस रही है क़िस्मत,
फ़िर एक रिश्ता दफ़न हो रहा है।

यह चमत्कार केवल विश्वास ही कर सकता है
जो पत्थर को भी भगवान कर सकता है !

भरोसा तोड़ने वाली शायरीयह पेज पढे
Bharosa Todne Wali Shayariयहाँ लिखी गयी है
Vishwas शायरीव्हाट्सएप भरोसा शायरी
सभी शायरियाँShayari
Home Pageयहाँ क्लिक करे

अक्सर बुरी सीरतों की सूरतें भी हसीन हुआ करती हैं,
संभलना लोग भरोसे पर छुरी चलाते कतराते नहीं हैं।

जिन्हे फ़िक्र थी कल की वो रोये रात भर
जिन्हे यकीन था रब पर वो सोये रात भर !

जब सब तोल रहे थे मुझे ना उम्मीदी के तराज़ू में,
एक वही तो था जिसने भरोसा जताया मुझ में।

उनका भरोसा मत करो
जिनका ख्याल वक्त के साथ बदल जाऐ
भरोसा उनका करो जिनका ख्याल तब भी
वैसा ही रहे जब आपका वक्त बदल जाऐ !

वो आँखों से अपनी शरारत करते है
वो अपनी अदाओं से कयामत करते है
हमारी निगाहें उनके चहरे से हठती नही
और वो हमारी निगाहों की शिकायत करते है !

यक़ीन हो तो कोई रास्ता निकलता है
हवा की ओट भी ले कर चिराग़ जलता है !

Bharosa Todne Wali Shayari in Hindi

जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता !

जब जब भरोसा किया है मेने
तब तब भरोसा टूटा है मेरा
अब तो किसी पर भरोसा करने का
मन ही नही करता है मेरा
Bharosa Todne Wali Shayari in Hindi

आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं
अक्सर वही आप की आँखें खोल जाते है

Sad भरोसा तोड़ने वाली शायरी

नसीब से ज्यादा भरोसा तुम पर किया
फिर भी नसीब इतना नहीं बदला
जितना तुम बदल गए !

क्यो भरोसा करू किसी और पर,
जब खुद की आखे खुद को धोखा दे।

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो
पर भी शक करना मेरी फितरत मे
तो गैरों पर भी भरोसा करना था !

उसकी हँसी पर क्या भरोसा करना,
जो शख़्स खुलकर कभी रोया न हो।

मेरे दिल कि सरहद को पार न करना
नाजुक है दिल मेरा वार न करना
खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर
इस भरोसे को तुम बेकार न करना !

भरोसे के बाज़ार में जिंदगी बेची थी मैंने,
तब जा के कहीं पाया हैं ये लेहजा मैंने।

अजब ये दौर आया है कि जिस में
ग़लत कुछ भी नहीं सब कुछ सही है
मुकम्मल ख़ुद को जो भी मानता है
यक़ींनमाने बहुत उस में कमी है !

क्या भरोसा करे आज-कल के नेताओ पर ये
तो ​अब जनता को भरमाने लगे है नेता इतने
रंग बदलते है कि गिरगिट भी शर्माने लगे है !

आज सपने मे उनका आना हुआ
जिनका हमसे कोई वास्ता नही
रूठ कर बैठे थे मेरे ही बिस्तर पर
मगर दिल मनाने को बोला नही !

अब ज़रा सा भी किसी पर भरोसा नही होता है
और जब भी होता हैं दर्द बड़ा ही बेहद होता है !

आजकल न जाने कब बदल जाए इंसान भरोसा नहीं
कहते हैं जो भरोसा करो हम पर
अक्सर भरोसा तोड़ते हैं वहीं

वहम था मेरा
जो तुम पर भरोसा किया
लोगों ने तो सिर्फ दिल तोड़ा था
तुमने तो मेरा रूह निचोड़ दिया

भरोसा झूठ शायरी

खुद से बढ़कर भरोसा है मुझे तुम पर
इस भरोसे को तुम बेकार न करना !

बेशक किसी को माफ बार-बार करो,
लेकिन भरोसा सिर्फ एक बार करो।

किसी पर खुद से भी
ज्यादा भरोसा करना
और उस भरोसे का टूटना तो
जैसे दस्तूर हो जिंदगी का !

कोई भरोसे के लिए रोता है,
कोई भरोसा करके रोता है।

यूँ मुलाक़ात का ये दौर बनाए रखिए
मौत कब साथ निभा जाए भरोसा क्या है !

रख भरोसा खुद पर क्यो ढूॅढता है
फरिश्ते पंछीओ के पास कहॉ होते है
नक्शे फिर भी ढूॅढ लेते है रास्ते !

भरोसा क्या करना गैरों पर
जब गिरना और चलना है अपने ही पैरों पर !

झड़ गए पत्ते उम्मीदों के सारे,
मग़र जड़ भरोसे की मजबूत बहुत है।

अगर बिछड़ना नही चाहते हो तो
खुद पर भरोसा करना सीखो
क्युकी सहारे कितने भी मज़बूत हो
कभी ना कभी साथ छोड़ जाते है !

लोगों के पास बहुत कुछ है
मगर मुश्किल यही है कि
भरोसे पे शक है और
अपने शक पे भरोसा है

जानकार उनको है इस बात को जाना हमने
किस कदर पलटते हैं
यह खुद को दोस्त कहने वाले

Bharosa Rishte Dhoka Shayari

हम समझदार भी इतने है
के उनका झूठ पकड़ लेते है
और उनके दिवाने भी इतने
के फिर भी यकीन कर लेते है !

अब ज़रा सा भी किसी पर भरोसा नही होता हैं,
और जब भी होता हैं दर्द बड़ा ही बेहद होता हैं।

जानकार उनको इस बात को जाना है
हमने किस कदर पलटते हैं यह
खुद को दोस्त कहने वाले !

आज शाम हुई कल फिर सूरज निकलेगा,
भरोसा रख अपने आप पर हर पल तू निखरेगा।

लोगो के पास बहुत कुछ है
मगर मुश्किल यही है कि
भरोसे पर शक है और
अपने शक पे भरोसा है !

अब इन लहरो पर क्या भरोसा करूं,
जब वो मेरे विपरीत ही चल रही है,
मुझे तो इन हवाओं पर भरोसा है,
जो मेरे पतवार को सहारा दे रही है।

हर इक पल सामने मेरे तुम्हारा ही
ये चेहरा हो तुम्हारी ही महक लाता हवाओ
का ये पहरा हो तुम्हारे प्यार में पागल हुआ
दिल कह रहा है अब तुम्हे मुझ पर भरोसा
और गहरा औ र गहरा हो !

दिल करता है ज़िन्दगी तुझे दे दू
ज़िन्दगी की सारी खुशियाँ तुझे दे दू
अगर तू मुझे भरोसा अपने साथ का
तो यकीन मान अपनी सांसे भी तुझे दे दू !

इस नजर ने उस नजर से बात करली
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली !

एक बार फ़िर शक भरोसे से सबूत
मांग रहा है हँस रही है क़िस्मत
फ़िर एक रिश्ता दफ़न हो रहा है !

सब पर भरोसा है
पर कुछ नहीं हासिल है
जिस तरफ पीठ करो
वहीं खड़ा कातिल है

नसीब से ज्यादा भरोसा तुम पर किया
फिर भी नसीब इतना
नहीं बदला जितना तुम बदल गए

Bharosa Vishwas Quotes in Hindi

जिंदगी एक खेल है चलती रहेगी पर
​कभी किसी का भरोसा मत करना !

समुंदर की लहरों पर भरोसा कर बैठे,
कल वो डुबा कर हमें किनारा कर बैठे।

जो चाहे वो पा लेता है इंसान
विश्वास मे इतना दम होता है
जो इंसान को ईश्वर देता है
वो कभी भी कम नही होता है !

नसीब से ज्यादा भरोसा तुम पर किया,
फिर भी नसीब इतना नहीं बदला जितना तुम बदल गयी।

ना रुक ना झुक रख भरोसा
बस चलता जा मंज़िल ना
मिले तब तक बस बढ़ता जा !

भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है,
और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है।

किसी का भरोसा तोड़ने वाली शायरी हिन्दी

दीवारे छोटी होती थी लेकिन पर्दा होता था
ताले की ईजाद से पहले सिर्फ़ भरोसा होता था
जब तक माथा चूम के रुख़्सत करने वाली ज़िंदा थी
दरवाज़े के बाहर तक भी मुँह मे लुक़्मा होता था !

प्यार मे कोई तो दिल तोड़ देता है
दोस्ती मे कोई तो भरोसा तोड़ देता है
ज़िंदगी जीना तो कोई ग़ुलाब से सीखे
जो खुद टूट कर दो दिलो को जोड़ देता है !

वो एक तेरा वादा था की हम कभी
जुदा ना होंगे वो बात हमअपने दिल
को सुनकर अक्सर मुस्कुराते है !

आग लगी दिल मे जब वो खफ़ा हुए
एहसास हुआ तब जब वो जुदा हुए
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके लेकिन
दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए !

रिश्ते दिल टूटने पर नहीं
भारोसा टूटने पर बिखरते है।

हम अपने उभरते जज़्बात बयां करने में मशरूफ थे
और वो हमारी पुरानी गलतियां गिनाने में
नतीजा ये हुआ कि हम अपनी बात समझा-समझा कर थक गए
और वो किसी पर भी भरोसा न होने का बहाना कर के निकल गए

अब ज़रा सा भी किसी पर भरोसा नही होता हैं
और जब भी होता हैं दर्द बड़ा ही बेहद होता हैं

भरोसा स्टेटस इन हिन्दी

दिल की धड़कन और
​मेरी सदा हो तुम मेरे भरोसे
की आखरी वफा हो तुम !

किसी को माफ़ करके
अच्छे इंसान बन जाओ,
मगर दोबारा भरोसा करके
बेवक़ूफ़ मत बनो।

लोगो के पास बहुत कुछ है मगर
मुश्किल यही है कि भरोसे पे शक है
और अपने शक पे भरोसा है !

भरोसा तब नहीं टूटता जब कोई रूठ जाता है,
भरोसा तब टूटता है जब कोई दिल तोड़ जाता है।

वाह ए ख़ुश फ़हमी कि पर्वाज़ ए यक़ी से भी गए
आसमाँ छूने की ख़्वाहिश मे ज़मी से भी गए !

भरोसा तोड़ने वाली शायरी हिन्दी में

बात भरोसे की ना कर
ऐ दिल तू किसी गैर से,
मौसम से ज्यादा,
इन्ही लोगों को बदलते देखा है मैंने।

भरोसा दूसरों पर रखो तो गम दे जाती है
भरोसा ख़ुद पर रखो तो ताकत बन जाती है !

मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता
कुछ रिश्तो का कोई तोल नहीं होता
वैसे लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर
पर कोई आप की तरह अनमोल नही होता !

इश्क सभी को जीना सीखा देता है
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है
इश्क नही किया तो करके देखना
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है !

जब जब भरोसा किया है मैंने
तब तब भरोसा टूटा है मेरा
अब तो किसी पर भरोसा करने
का मन ही नही करता है मेरा !
Bharosa Todne Wali Shayari in Hindi

रोक लो नैनों को लकीरें भी बह जाएंगीं वरना,
आज रोक लो हमेंकल का भरोसा मत करना।

भरोसा वो दीवार है, जिसे एक बार तोड़ दिया
जाए तो वो वैसी की वैसी दोबारा नहीं बन सकती
भरोसा तोड़ने वाली शायरी in hindi

Technomantu App Download

विश्वास शायरी

​इस मतलबी दुनिया में
​किसी पर भरोसा मत
​करना इश्क और धोखे में
​अपना जीवन बेकार मत करना !

आजकल न जाने कब बदल जाए इंसान भरोसा नहीं,
कहते हैं जो भरोसा करो हम पर,
अक्सर भरोसा तोड़ते हैं वहीं।

भरोसा कर के तुमपे जो मैने
तुम्हारा हाथ थाम लिया
भरोसा भी न रहा मेरे भरोसे पे
के तुमने मेरा साथ छोड़ दिया !

भरोसा रख मुहब्बत पर,
मुहब्बत रंग लाएगी
ज़माना हार जाएगा,
मुहब्बत जीत जाएगी।

कीमत पानी की नही प्यास की होती है
कीमत मौत की नही साँस की होती है
प्यार तो बहुत करते है दुनिया मे
कीमत प्यार की नही विश्वास की होती है !

प्यार और भरोसा दो ऐसे पंछी हैं,
अगर इनमें से एक उड़ जाए तो,
दूसरा अपने आप उड़ जाता है।

न कोई वादा न कोई यक़ीं न कोई उमीद
मगर हमें तो तेरा इंतिज़ार करना था !

भरोसे के बाज़ार में जिंदगी बेची थी मैंने
तब जा के कहीं पाया हैं ये लेहजा मैंने !

सब पर भरोसा है
पर कुछ नहीं हासिल है
जिस तरफ पीठ करो
वहीं खड़ा कातिल है !

कुछ ठोकरो के बाद नजाकत आ गयी मुझमे
अब दिल के मशवरो पे मै भरोसा नही करती !

आजकल न जाने कब बदल जाए इंसान
भरोसा नही कहते है जो भरोसा करो
हम पर अक्सर भरोसा तोड़ते हैं वही !

यूं तो हर गुनाह का कफ़ारा नहीं होता,
उठ जाए जो एक दफा भरोसा दुबारा नहीं होता।

मैंने तुम पर भरोसा किया
पर तुमने मुझे धोखा दिया
अब किसी और पे ना भरोसा होगा
और ना किसी से दोबारा प्यार होगा

Vishwas Shayari in Hindi

दिल की सरहद को
तुम ​पार ना करना
मेरे भरोसे और विश्वास
को तुम बेकार न करना !

सब पर भरोसा है,
पर कुछ नहीं हासिल है,
जिस तरफ पीठ करो,
वहीं खड़ा कातिल है।

जब जब भरोसा किया है मेने
तब तब भरोसा टूटा है मेरा
अब तो किसी पर भरोसा करने का
मन ही नही करता है मेरा !

वहम था मेरा
जो तुम पर भरोसा किया,
लोगों ने तो सिर्फ दिल तोड़ा था,
तुमने तो मेरा रूह निचोड़ दिया।

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया
दिल के सोदागरो से दिल्लगी कर
बैठे शायद इसीलिए मेरा प्यार
इक अल्फाज बनकर रह गया !

जिंदगी की सबसे अनमोल चीज भरोसा,
जितनी आसानी से होता नहीं,
उतनी आसानी से टूट जरूर जाता है।

हर रिश्ते मे विश्वास रहने दो
जुबान पर हर वक्त मिठास रहने दो
यही तो अंदाज है जिन्दगी जीने का
न ख़ुद रहो उदास न दूसरों को रहने दो !

तुम्हारे पाँव के नीचे कोई ज़मीन नही
कमाल ये है कि फिर भी तुम्हे यक़ीन नही !

तेरी झील सी आँखों में डूब जाने का दिल
चाहता है वफ़ा पर तेरी बर्बाद हो जाने का
दिल चाहता है कोई सम्भाले हमे, बहक रहे है
कदम तेरे इश्क में मर जाने का दिल चाहता है !

बात भरोसे की ना कर ऐ दिल
तू किसी गैर से मौसम से ज्यादा
इन्ही लोगों को बदलते देखा है मैंने !

जिंदगी की सबसे अनमोल चीज
भरोसा जितनी आसानी से होता नही
उतनी आसानी से टूट जरूर जाता है !

जिंदगी का भरोसा नहीं
कब तक साथ निभाएगी,
पर मौत पर ऐतबार है
एक दिन ज़रूर आएगी।

समुंदर की लहरों पर भरोसा कर बैठे
कल वो डुबा कर हमें किनारा कर बैठे

वैसे तो मैंने भरोसा तोड़ने वाली शायरी (bharosa todne wali shayari) पर बहुत सारी vishwas Shayari हिन्दी में लिखी है | आशा करता हूँ कि आपको इनमे से कई शायरियाँ पसंद आई होगी जिसका प्रयोग व्हाट्सएप पर किया भी होगा |

Leave a Comment