एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ (April 2022)

दोस्तों क्या आप एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ और वाक्य में प्रयोग के बारे में जानना चाहते है तो आज मैं यहाँ पर एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ क्या होता है और इसका वाक्य में प्रयोग किस प्रकार होता है, इत्यादि के बारे में आपको बताने जा रहा हूँ | मैं आपको बता दूँ कि एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ एकता में शक्ति होना होता है | आप इसे संगठन में शक्ति होना भी कह सकते है | तो चलिये अब हम इस मुहावरे के बारे में हिन्दी में और ज्यादा जानकारी जानने की कोशिश करते है |

एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ और वाक्य में प्रयोग

एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ बताओ, इसका अर्थ क्या होता है ?

हम सभी को यह तो पहले से ही पता है कि प्रत्येक मुहावरे का एक अर्थ होता है उसी प्रकार ek aur ek gyarah ka arth एकता एवं संगठन में शक्ति होना होता है | जिस प्रकार एक व्यक्ति किसी कार्य को करे तथा वही कार्य एक से अधिक लोग एक साथ मिलकर करे तो संगठन के साथ किया गया कार्य अधिक सरल एवं जल्दी हो जाता है |

लोग इस मुहावरे में अर्थ इस प्रकार भी निकलते है कि जब एक-एक अंगुली कुछ नहीं कर सकती है तथा सभी अंगुलियाँ मिलकर मुट्ठी बन जाती है तो वह मुक्का में बदल जाता है | अर्थात इस उदाहरण से यह स्पष्ट होता है कि एकता में बहुत अधिक शक्ति होती है | और हमे भी हमेशा संगठित होकर कार्य करना चाहिए |

What are you doing का meaning क्या होता है

एक और एक ग्यारह का अर्थ एवं वाक्य में प्रयोग-मुहावरा

एक और एक ग्यारह होना मुहावरे का अर्थ ek aur ek gyarah hona muhavare ka arth – एकता मे शक्ति होना ।

मुहावरा – एक और एक ग्यारह होना |
मुहावरे का हिंदी में अर्थ – आपस में संगठित होकर शक्तिशाली होना
|

  • लोगो की यह पुरानी कहावत है कि यदि दोनों भाई एक साथ रहोगे तो कोई भी तुम्हारा कुछ नही बिगाड सकता है क्योंकि एक और एक ग्यारह होते है ।
  • ‌‌‌जब तक सुरेश और रमेश एक साथ थे तो उनका कोई कुछ नही बिगाड सका इससे साफ पता चलता है की एक और एक मिलकर ग्यारह हो जाते है ।
  • इन दोनो लड़कों की नोटकी पर कभी भी भरोसा मत करना जब इनमे से किसी एक ‌‌‌पर ‌‌‌कोई मुसीबत आती है तो दोनो एक और एक ग्यारह होते देर नही लगाते और उस समस्या को दूर कर देते है।
  • ‌‌‌जब तक हम एक और एक ग्यारह नही ‌‌‌होगे तब तक ये लोग हमे ऐसे ही लूटते रहेगे ।
  • जब गाव के लोग एक और एक ग्यारह हो गए ‌‌‌तब सभी डाकू डर कर गाँव छोड़कर भाग गए ।
  • एक भाई को दूसरे भाई का हमेशा साथ देना चाहिए क्योंकि एक और एक ग्यारह होते हैं।
  • जब तक राकेश और नितिन में दोस्ती रही तब कोई उन्हें गाँव में झुका नहीं सका, आखिर एक और एक ग्यारह जो होते हैं।
  • राजू और रामू पुनः मित्रता करके एक और एक ग्यारह हो गए हैं।
  • अकेला चना भद नहीं फोड़ सकता, किसी न किसी को तो तुम्हें अपने साथ लेना ही होगा, तुमने सुना तो होगा कि एक और एक ग्यारह होते हैं।

एक और एक ग्यारह मुहावरे का अर्थ उदाहरण सहित

वाक्य में प्रयोग: महावीर और मुकेश दोनों घनिष्ठ मित्र थे लेकिन किसी बात को लेकर उन दोनों में लड़ाई हो गई लेकिन एक दिन महावीर और मुकेश फिर से मित्र बन गए और दोनों एक और एक ग्यारह हो गए।

वाक्य में प्रयोग: हमारे बड़े बुजुर्ग हमारे माता-पिता, दादा दादी, नाना नानी हमें हमेशा यही सिखाते हैं कि हमें अपने परिवार में एकता को कायम रखना चाहिए क्योंकि एक और एक ग्यारह होते हैं और कोई दूसरा पूरे परिवार का बाल भी बांका नहीं कर सकता।

वाक्य में प्रयोग: जब कोई संकट की घड़ी होती है विपत्ति की घड़ी होती है उस समय परिवार के लोग मिलकर एक दूसरे का साथ देते हैं ऐसी परिस्थिति में ही कहा जाता है कि विपति के समय पूरा परिवार एक और एक ग्यारह हो गया।

दोस्तों आप हमने “एक और एक ग्यारह होते हैं ” इस मुहावरे का अर्थ और साथ ही इसका वाक्य में किस प्रकार प्रयोग होता है, के बारे में सीखा | छोटी कक्षों मुहावरे के प्र्श्नो में एक और एक ग्यारह होते हैं मुहावरे का अर्थ भी पूछा जाता है क्योंकि इस मुहावरे के अर्थ से काफी सीख मिलती है |

छोटे बच्चो में यदि हम एकता में शक्ति होना, के बारे में पढ़ाएंगे तो उन्हे यह समझ में आ जाता है कि विपति के समय अकेला व्यक्ति कुछ नहीं कर सकता है | ऐसी परिस्थिति में परिवार के सभी लोगो को एक साथ मिलकर विपति का सामना करना चाहिए क्योंकि एक और एक मिलकर ग्यारह हो जाते है | यह मुहावरा हमे यही सिखाता है |

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे |

Leave a Comment