एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Extrovert and Introvert meaning in Hindi)

क्या आप एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Extrovert and Introvert meaning in Hindi) जानना चाहते है? यदि हाँ तो आप इस पोस्ट में आपको एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का हिन्दी में मीनिंग सरल भाषा में समझाया गया है |

आपने कई बार सुना होगा कि वह इंसान तो इंटरोवर्ट है | वह बहुत कम बोलता है तथा लोगों से कम बातें करता है |

आपने यह भी सुना होगा कि वह इंसान एक्सट्रोवर्ट है | जो लोगों की बीच में रहना पसंद करता है |

परंतु क्या आपको यह पता है कि आखिर एक्सट्रोवर्ट का हिन्दी में मीनिंग क्या होता है यदि कोई एक्सट्रोवर्ट बोलता है तो वो एक्सट्रोवर्ट का मतलब क्या होता है?

आप इस पोस्ट में एक्सट्रोवर्ट का मतलब हिन्दी में जानने वाले है तथा साथ ही इंटरोवर्ट का मीनिंग भी जानने वाले है |

Extrovert and Introvert meaning in Hindi

एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Extrovert and Introvert meaning in Hindi)

एक्सट्रोवर्ट का हिन्दी में मतलब बहिर्मुखी होता है तथा इंटरोवर्ट का मतलब अंतर्मुखी होता है |

बहिर्मुखी व अंतर्मुखी कहने के बाद भी लोगों को यह समझ नहीं आता कि आखिर बहिर्मुखी व अंतर्मुखी क्या होता है |

यदि हम सरल भाषा में कहे तो वह इंसान जिसे अकेला रहना पसंद होता है ऐसे व्यक्तित्व वाले इंसान को अंतर्मुखी (Introvert) कहते है |

इस प्रकार वह इंसान जो अकेला रहने के बजाय लोगों के बीच अपना ज़्यादातर समय व्यतीत करता है जिसे अपने दोस्तों के साथ रहना ज्यादा पसंद हो उसे बहिर्मुखी (Extrovert) कहते है |

आप नीचे दिये जा रहे पैराग्राफ को पढ़कर एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट को और अधिक डीटेल से जान पायेंगे | जिसमे एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट को उदाहरण सहित विस्तार से हिन्दी में समझाया गया है |

यह भी पढे- नेवर गिव अप का मीनिंग हिन्दी में

एक्सट्रोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Extrovert meaning in Hindi)

एक्सट्रोवर्ट जिसे हिन्दी में बहिर्मुखी कहते है | यह व्यक्ति का व्यवहार बताता है |

एक्सट्रोवर्ट इंसान वे होते है जो कभी अकेला नहीं रहना चाहते है तथा अधिक से अधिक दोस्त बनाते है ताकि इन्हें कभी अकेला नहीं रहना पड़े | ऐसे लोग किसी से भी जल्दी घुल मिल जाते हैं।

ऐसे इंसान हमेशा दोस्तों के साथ रहना पसंद करते है | अकेले होने की स्थिति में फोन पर दोस्तों से बातें करते रहते है |

एक्सट्रोवर्ट व्यक्ति (बहिर्मुखी व्यक्ति) में ज्यादा बोलते है | तथा लोगों के बीच रहने के कारण किसी भी इंसान को जल्दी जान लेते है कि सामने वाला इंसान किस प्रकार है |

अपनी खुद की समस्याओं के समाधान हेतु दोस्तों से बात करके उसका समाधान निकालने में देर नहीं लगाते है |

एक बहिर्मुखी व्यक्ति (एक्सट्रोवर्ट व्यक्ति) में निम्नलिखित विशेषताएँ होती है –

  • बहिर्मुखी व्यक्ति दोस्तों के साथ रहना ज्यादा पसंद करते है | इसी कारण अपने दोस्त का ख्याल अच्छे से रख पाते है |
  • ऐसे लोगों का कॉन्फिडेंस लेवल अच्छा होता है |
  • ऐसे लोग अधिक मिलनसार होते है |
  • एक्सट्रोवर्ट व्यक्ति सामने वाले इंसान से बात करते ही पहचान लेते है कि यह इंसान किस प्रकार की सोच रखता है |
  • एक्सट्रोवर्ट व्यक्ति मनोवैज्ञानिक के धनी होते है |
  • इस प्रकार के इंसान दोस्तों के साथ गप्पे लगाने के कारण अपना टाइम वेस्ट कर देते है |

एक्सट्रोवर्ट के उदाहरण

यहाँ पर एक्सट्रोवर्ट (बहिर्मुखी) वाक्यों के उदाहरण दिये गए है जिन्हें पढ़ने के बाद आप एक्सट्रोवर्ट को और अधिक समझ सकते है |

  • बहिर्मुखी लोग लोगों से बात करना और जुड़ना पसंद करते हैं।
  • ऐसे लोग दूसरे लोगों के साथ जल्दी धूल मिल जाते है इसलिए इनके दोस्त अधिक होते है |
  • बहिर्मुखी लोन अंतर्मुखी लोगों की तुलना में कम शर्माते हैं और वह बेजिजक सभी के साथ बात करते हैं.
  • Extrovert लोग दोस्तों के साथ रहना ज्यादा पसंद करते हैं और अपने रिश्तेदारों के साथ और अन्य लोगों के साथ ज्यादा वक्त बिताना पसंद करते हैं |
  • ऐसे लोगों का आत्मविश्वास अच्छा होता है तथा कोन्फ़िडेंस लेवल भी अधिक होता है |
  • एक्सट्रोवर्ट व्यक्तित्व वाले लोग अपने लक्ष्य को हासिल करने में माहिर होते है |

यह भी पढे- कीप इट अप का मीनिंग हिन्दी में

इंटरोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Introvert meaning in Hindi)

इंटरोवर्ट जिसे हिन्दी में अंतर्मुखी कहते है | यह व्यक्ति का व्यवहार बताता है |

इंटरोवर्ट इंसान वे होते है जो बहुत ही कम बोलते है तथा जिन्हें अकेला रहना पसंद होता है |

ऐसे इंसान ज्यादातर शर्मीले स्वभाव के होते है जो किसी भी ग्रुप में कम बोलते है तथा ज्यादा सुनते रहते है | इस प्रकार के स्वभाव के व्यक्तियों को इंटरोवर्ट व्यक्ति (अंतर्मुखी व्यक्ति) कहते है |

इंटरोवर्ट व्यक्ति (अंतर्मुखी व्यक्ति) संकोची होते है | वे किसी भी कठिन काम को करने की क्षमता रखते है |

एक अंतर्मुखी व्यक्ति (इंटरोवर्ट व्यक्ति) में निम्नलिखित विशेषताएँ होती है –

  • कम बोलने वाले लोग समझदार होते है |
  • ऐसे लोग सामान्य लोगो की तुलना में ज्यादा इंटेलीजेंट होते है |
  • नेक दिल होते है |
  • समय को वेस्ट नहीं कर समय का सदुपयोग करते है |
  • इन्हें अकेले रहने में डर नहीं लगता है |
  • ऐसे लोगों का आईक्यू लेवल भी अधिक होता है |
  • किसी भी चीज को जल्दी समझने की ताकत होता है |
  • आत्मविश्वास की मात्रा अधिक होती है |
  • किसी भी काम को करने के लिए भरपूर मात्रा में उत्साह भरा होता है |

इंटरोवर्ट के उदाहरण

यहाँ पर इंटरोवर्ट (अंतर्मुखी) वाक्यों के उदाहरण दिये गए है जिन्हें पढ़ने के बाद आप इंटरोवर्ट को और अधिक समझ सकते है |

  1. वह अंतर्मुखी है इसलिए वह अकेले रहना पसंद करती है | (She is an introvert so she likes to stay alone)
  2. वह अंतर्मुखी किस्म का लड़का है | (He is an introverted type of guy)
  3. लोग सोचते हैं कि ज्यादातर लेखक अंतर्मुखी होते हैं | (People think that most writers are introverts)
  4. वास्तविक जीवन में, अंतर्मुखी व्यक्तियों की तुलना में बहिर्मुखी व्यक्ति अधिक सफल होते हैं | (In real life, extrovert persons are more successful than Introverts person)

यह भी पढे- वॉट आर यू डूइंग का मीनिंग हिन्दी में

एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट से संबन्धित प्रश्न व उत्तर

इंटरोवर्ट का मतलब क्या होता है?

इंटरोवर्ट का हिन्दी में मतलब अंतर्मुखी होता है |

बेहतर अंतर्मुखी या बहिर्मुखी क्या है?

बहिर्मुखी |

क्या आप अंतर्मुखी और बहिर्मुखी दोनों हो सकते है?

हाँ | ऐसे लोगों का व्यक्तित्व उभयमुखी होता है |

उभयमुखी व्यक्तित्व क्या है?

ऐसे व्यक्तित्व वाले लोग जिनका व्यक्तित्व अंतर्मुखी और बहिर्मुखी दोनों प्रकार है |

बहिर्मुखी के अंदर कौन सा भाव होता है ?

इनमें कार्यकुशलता की मात्रा अधिक होती है। ये व्यवहार-कुशल होते हैं।

एक्सट्रोवर्ट का मतलब क्या होता है?

इंटरोवर्ट का हिन्दी में मतलब बहिर्मुखी होता है |

अंतिम दो लाइन

आपने इस पोस्ट में एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का मीनिंग हिन्दी में (Extrovert and Introvert meaning in Hindi) जाना | आपको यह पोस्ट कैसा लगा | आप कमेंट में जाकर अपने विचार प्रस्तुत कर सकते है | इस पोस्ट में एक्सट्रोवर्ट व इंटरोवर्ट का मीनिंग सरल हिन्दी भाषा में समझाया गया है |

Leave a Comment