टॉप 10+ जुम्मा मुबारक शायरी (Jumma Mubarak Shayari)

दोस्तों क्या आप जुम्मा मुबारक की शायरी ढूंढ रहे है तो आज सही जगह आए है | यहाँ मैं कई सारी jumma mubarak shayari लिखी है जिसका प्रयोग आप भी कर सकते है और अपने परिवार के लोगो व दोस्तो को जुम्मा मुबारक बोल सकते है |

यहाँ पर जुम्मा मुबारक स्टेटस, जुम्मा मुबारक शायरी हिन्दी व इंग्लिश में लिखी गयी है इसके साथ ही 2 लाइन में जुम्मा मुबारक शायरी भी लिखी गयी है | यह सभी शयरियाँ मैंने छाँट छाँट कर लिखी है | यहाँ लिखी हुई सभी जुम्मा मुबारक शायरी टेक्स्ट, डीपी, विडियो आपको जरूर पसंद आने वाली है क्योंकि हिन्दी व इंग्लिश की सभी फेमस-फेमस शायरियाँ यहाँ प्रस्तुत की जा रही है |

हर साल रमजान का महिना आता है जिसमें मुस्लिम धर्म को मानने वाले सभी लोग रोजा रखते है | यदि आप रमजान के महीने का पहला जुम्मा मुबारक शायरी अपने परिवार के लोगों को भेजना चाहते हो तो मैंने आपके लिए यहाँ पर रमजान का पहला जुम्मा मुबारक पर शायरी लिखी गयी है | जिसका प्रयोग करके आप जुम्मा मुबारक बोल सकते हो |

Jumma mubarak Stutus shayari जुम्मा मुबारक स्टेटस शायरी

Jumma Mubarak Shayari

ख़ुदा की रहमत सभी पर बरसे,
दो वक्त की रोटी के लिए कोई न तरसे.

ऐ ख़ुदा मौका देना सफर-ए-मक्का का,
सुना है जन्नत जैसा नजारा है वहाँ का.
जुम्मा मुबारक

जीवन में कुछ अच्छे कर्म भी कर लिया करो,
गरीबों के लिए भी इक दुआ पढ़ लिया करो.

दिल छोटा ना करो
एक दिन अल्लाह तुम्हारी सारी दुआएं
कबूल करेगा इंशाअल्लाह।
जुम्मा मुबारक आप सभी दोस्तों को..!

तुम्हारा रब ख़ूब जानता है,
तुम्हारे दिलों में क्या है।
” जुम्मा मुबारक “

खुदा की रहमत होती है जब मेरी अम्मी की दुआ साथ होती है।

jumma mubarak shayari in Hindi and in English जुम्मा मुबारक शायरी हिन्दी मे

ख़ुदा के सजदें में जब मैं सिर को झुकाता हूँ,
मैं अपने सारे दुःख-दर्दों का हल पाता हूँ.

मेरी खाली झोली में दुआ के अल्फाज़ डाल दो,
क्या पता तुम्हारे होठ हिले और मेरी तकदीर संवर जाए.

ईमान में ही कोई कसर होता हैं,
वरना दुआओं का खूब असर होता हैं.

जो मांगे है एक दुसरे को दुवाओं में,
उस दुवाओं की खुदा खैर करे।

या अल्लाह आज के दिन
जितने भी हाथ तेरी बारगाह में उठे हैं,
उन सबकी दुआओ को कुबूल फरमा।

मुझे क्या हक़ में किसी को मतलबी कहूं,
मैं खुद ही “खुदा” को मुसीबत में याद करता हूं।

Ya Allha aaj Jumma ki Namaz ke baad
jitne bhi haath teri baargaah mein 
dua ke liye uhte hain.
Sab ki dua qubool farma.

May Allah shower his mercy
& blessings upon you &
your loved ones.

May you all have a blessed
Friday filled with happiness,
prosperity and the pleasure of
Allah Ta’ala.
Jumma Mubarak

Kar leta hoon bardast har dard isi aas ake saath
Khuda noor bhi barsata hai aazmaisho ke baad

May Allah Bless You
and Your Family By Plentitude
of Blessings… Ameen!!!
Jumma Mubarak Ho

Eid Shayari

रमजान कार्ड की दुआ हिन्दी में यहाँ से पढे

jumma mubarak shayari 2 line दो लाइन में जुम्मा मुबारक शायरी

सुकून और प्यार जिन्दगी को खूबसूरत बनाती हैं,
अल्लाह पाक आप की जिन्दगी में किसी एक की भी कमी न करें.

काश उनको भी याद आऊ मैं जुम्मा की दुआओं में,
जो अक्सर मुझसे कहते है दुआओं में याद रखना.

इन्सान का मुक़द्दर
उतनी बार बदलता है,
जितनी बार वो अपने
रब से “दुआ” करता है।
” जुम्मा मुबारक “

नमाज़ को मोहब्बत समझ के अदा
करोगे तो अल्लाह पाक,
अगली नमाज़ के लिए तुम्हे खुद
खड़ा कर देगा।

कि तेरी आवाज सुनकर वो सुकून मिलता है,
जो सुकून मिलता है एलाने ए इफ्तारी के बाद रोजेदार को।

अल्लाह की मोहब्बत के इलावा
दुनिया की हर मोहब्बत दुःख देती है।

Jumma Mubarak Shayari 2 line

jumma mubarak shayari text जुम्मा मुबारक हो

नहीं मायूस मैं अपने खुदा से,
बदल जाती है किस्मत दुआ से.

कर लेता हूँ बर्दाश्त हर दर्द इसी आस के साथ,
कि ख़ुदा नूर भी बरसाता है आजमाइशों के बाद.

सर झुकाने की खूबसूरती भी
क्या कमाल की होती हैं,
धरती पर सर रखों और
दुआ आसमान में कुबूल हो जाती हैं।
” जुम्मा मुबारक “

लगा रखी हैं एक तसवीर हरे गुंम्बद की,
बस इस के नूर से घर मे हमारे बरकत हैं।

मोहब्बत भी अल्लाह के लिए बुग्ज़ भी अल्लाह के लिए।
” जुम्मा मुबारक “

या परवर दिगर आज नमाज़ में जितने भी हाथ उठे,
दुआ के लिए सब कीदुआओं पे कबूल फरमा।
” जुम्मा मुबारक “

Jumma Mubardak Shayari Images

Jumma Mubarak Shayari hindi
Jumma Mubarak Shayari urdu
Jumma Mubarak Shayari in english
Jumma Mubarak ho shayari
Jumma Mubarak Shayari 2 line
Jumma Mubarak Shayari dp
Jumma Mubarak Shayari images
Jumma Mubarak Shayari instagram
alvida jumma mubarak shayari

रमजान का पहला जुम्मा मुबारक शायरी

अंधेरों को नूर देता हैं,
उसका जिक्र सुरूर देता हैं,
उसके दर पर जो भी मांगता हैं
खुदा उसे जरूर देता हैं.

वो चमक चाँद में है न सितारों में हैं,
जो मदीने के दिलकश नजारों में हैं,
बेजुबान पत्थरों को भी बख्श दी जुबान
इतनी ताकत मेरे नबी के इशारों में हैं.

पूरा जीवन बीत जाएँ ख़ुदा की बंदगी में,
पाँचों वक्त का नमाज अदा करू जिंदगी में

होती ना गर मक़सुद मुहम्मद की वीलादत,
आदम को फ़िर ज़मीन पर उतारा नहीं जाता।
” जुम्मा मुबारक “

छोड़ो ये मोहब्बत के किस्से,
ये उम्र भर का रोना है,
आओ हम नमाज़ पढ़ते है,
और आखिरत संवारना है।

नन्हे बच्चों ने भी देख तेरी बारगाह मे दुआ मे हाथ उठाया है,
अल्लाह राज़ी हो जा रमज़ान अलविदा के मुक़ाम पे आया है।
” जुम्मा मुबारक “

जिन की उम्मीद सिर्फ अपने रब से हो,
वो कभी न उम्मीद नहीं होते।
” जुम्मा मुबारक “

jumma mubarak shayari Video जुम्मा मुबारक का विडियो

तू अगर मुझे नवाजता है तो ये तेरा करम है या रब,
वरना तेरी रहमतो के काबिल मेरी बंदगी नहीं.

दुआओं में सबकी खुशिया माँग लिया करो,
जो दुआ नहीं पढ़ते है उनकी भी तकदीर संवार दिया करों.

सुकून क्या है ये सिर्फ अल्लाह
के आगे झुकने वाले जानते है।
” जुम्मा मुबारक “

जुम्मा तुल विदा मुबारक सभी दोस्तों को,
अल्लाह हम आप सभी की रमज़ान,
की इबादतें कुबूल फरमाए… आमीन।

खिलाफ सारा जहाँ भी हो जाये,
लेकिन आपका यकीन होना चाहिए
के अल्लाह आपके साथ है।
” जुम्मा मुबारक “

जितना भी दिया अल्हम्दुलिल्लाह किसी के आगे झुकने न दिया अल्लाह।

jumma mubarak shayari DP जुम्मा मुबारक की डीपी

ऐ अल्लाह हमें अता कर दे वो माफ़ी,
जिस के बाद कभी गुनाह न हो हम से.

रब से जब भी मांगो रब को ही मांगो,
जब रब तुम्हारा होगा तो सब तुम्हारा होगा.

इबादत वो है जिसमे ज़रूरतों का ज़िक्र न हो,
सिर्फ उसकी रेहमतों का शुक्र हो।
” जुम्मा मुबारक “

इश्क़ करना है तू अपने अल्लाह से कर
जहाँ न जुदाई है,
न बे वफ़ाई, न रुस्वाई।

मेरे मौला तेरा करम होगा,
मेरी तक़दीर संवर दे मौला।

तुम दुआ के लिए हाथ उठा कर तो देखो,
वो अपने दर से कभी खाली हाथ जाने नहीं देता।
” जुम्मा मुबारक “

जुम्मा मुबारक शायरी Urdu में (جمعہ مبارک)

یا اللہ ہمارے گناہوں کو معاف فرما
اور ہمیں گناہون  سے دور رہنے کی توفیق عطا فرما

अल्लाह सारी ख्वाहिशें मुक्कमल किया करें,
जो खुदा की सजदे में सिर झुकाया करें.

दुआ माँग लिया करो दवा से पहले,
कोई नही देता शिफ़ा खुदा से पहले.

मौत तो आनी ही है,
ए खुदा!
क्यू न सजदे में आ जाये।
” जुम्मा मुबारक “

दिलों के झूकने से होते है आबाद घर खुदा के
सिर्फ सजदों से नहीं सजती वीरान मस्जोदें कभी

جمعہ مبارک
بے شک زندگی تھکا دینے والی چیز ہے
اور جب تم تھک جاؤ تو اپنے رب کو یادکرو
کیونکہ سکون تو صرف اللہ کے ذکر میں ہے

جمعہ مبارک
بے شک زندگی تھکا دینے والی چیز ہے
اور جب تم تھک جاؤ تو اپنے رب کو یادکرو
کیونکہ سکون تو صرف اللہ کے ذکر میں ہے

दुआ लफ़्ज़ों से नहीं,
दिल से होनी चाहिए,
क्यूंकि खुदा उनकी भी सुनता है,
जो बोल नहीं सकते।
” जुम्मा मुबारक “

جمعہ مبارک
دنیا کی سب سے بہترین ،خوبصورت اور حسین
 نعمتوں میں سے ایک نعمت نماز ہے 
جو سکون اس میں ہے ویسا سکون اور کہیں نہیں

बेशक़ जिन की उमीद अल्लाह से है.
वो कभी न उमीद नहीं होते।
” जुम्मा मुबारक “

आज मैंने यहाँ पर jumma mubarak Shayari लिखी है जो कि आप कभी भी प्रयोग कर सकते हो | इस जुम्मा मुबारक शायरी के द्वारा आप अपने परिवार के सदस्यों व दोस्तों को जुम्मा की मुबारका बोल सकते हो |

Leave a Comment