मोबाइल का आविष्कार किसने किया (who invented mobile phone)

Mobile ka avishkar kisne kiya- क्या आपको पता है कि मोबाइल का आविष्कार किसने किया? जिस फोन को आज रोजाना कई बार प्रयोग में लेते है उस मोबाइल फोन का आविष्कार किसने किया था? यदि आपके यह पता नहीं है कि who invented mobile phone तब आप इस पोस्ट को पढ़कर आसानी से जान पाएंगे कि वास्तव में mobile phone ka aavishkar kisne aur kab kiya?

आज के इस टेक्नोलोजी के युग में फोन प्रत्येक भारतीय के पास मौजूद है कुछ लोग तो दो-दो Mobile phone रखते है क्योंकि उन्हे एक नहीं, एक दे ज्यादा फोन की जरूरत होती है | कुछ लोग दिखावा करने के लिए ज्यादा कीमत का फोन जेब में रखते है ताकि लोगो के बीच में अपना status को maintain रख सके |

हम यह भी कह सकते है कि इस नए युग में लोगो की ज़िंदगी और आसान करने में फोन का बहुत बड़ा हाथ है क्योंकि केवल और केवल मोबाइल फोन के जरिये लोग किसी अन्य व्यक्ति से ततुरंत बात कर सकते है | यदि उन्हे की मूवमेंट को कैमरे में केद करना हो तो वो तुरंत ही फोन से फोटो खींचकर वह लम्हा सदा-सदा के लिए यादगार के रूप से फोन में फोटो के रूप में केद करके रख सकते है | इस प्रकार ये उपकरण जिसे हम अभी मोबाइल फोन बोलकर पुकारते है आखिर इसका आविष्कार किसने किया है? का उत्तर मैं आपको इस पोस्ट में बताने जा रहा हूँ | यहाँ पर मैं mobile phone ka aavishkar kisne kiya तथा kab kiya के बारे में सारी जानकारी हिन्दी में देने वाला हूँ |

mobile ka aavishkar kisne kiya

मोबाइल का आविष्कार किसने किया (mobile ka aavishkar kisne kiya)

दोस्तों मेरे हिसाब से आपको अभी तक पता ही नहीं होगा | इसलिए मैं आपको बताना चाहूँगा कि मोबाइल फोन का आविष्कार मार्टिन कूपर (Martin Coopar) ने 03 अप्रैल 1973 में किया था | आपको यह जानकार हैरानी होगी कि विश्व का पहला मोबाइल फोन लगभग एक ईंट के आकार का था | ये तो टेक्नोलोजी की बदोलत मोबाइल का आकार धीरे धीरे छोटा होता गया जिसे आज हम लोग देख रहे है |

Martin Coopar जिसने ममोबाइल फोन का आविष्कार किया था, ने अपने द्वारा बनाए गए फोन का नाम Motorola DynaTAC रखा था जिसकी लंबाई लगभग 9 इंच की थी तथा वजन लगभग 1.1 किलोग्राम था | और आज के युग में आपने वाले फोन का वजन लगभग 100-200 ग्राम ही हो गया है | यह सब आने वाली नयी-नई टेक्नोलोजी की सहायता से संभव हो पाया है |

मोबाइल फोन के आविष्कारक Martin Coopar के फोन में कई सारी खामियाँ थी जिसमें सुधार करते करते सन 1983 में बाजार में सभी लोगों के लिए मोबाइल फोन आया जिसका नाम Motorola DynaTAC 8000x रखा गया था | इस फोन के द्वारा केवल 30 मिनट तक बात करने की सुविधा दी गयी थी |

मोबाइल फोन का आविष्कार कब और किसने किया- मार्टिन कूपर के बारे में जाने

जिस व्यक्ति ने मोबाइल फोन का आविष्कार किया था उसका नाम मार्टिन कूपर है यह आविष्कार 03 अप्रैल 1973 में किया गया था | मार्टिन की फोटो मैंने नीचे लगा रखी है | यह वही मार्टिन है जिसने मोबाइल फोन invent किया था | जिसकी बदोलत आज हम सभी के पास में मोबाइल उपलब्ध है |

Martin Coopar ne mobile ka aavishkar kiya

इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार मार्टिन कूपर का जन्म 26 दिसंबर 1928 में शिकागो में हुआ था | मार्टिन के माता पिता यूक्रेन के रहने वाले थे तथा बाद में अमेरिका चले गए | वही अमेरिका में कूपर का जन्म हुआ तथा अपनी पढ़ाई उन्होने अमेरिका में ही पूरी की थी |

उन्होने electrical Engineering में स्नातक डिग्री 1950 में हासिल की तथा 1957 में मास्टर ऑफ साइन्स की डिग्री मिली | तुरंत बाद वे अमेरिका की किसी कंपनी में काम करते रहे तथा बाद में मोटोरोला कंपनी में कार्य करने लगे | इसी दौरान ही मार्टिन कूपर ने मोबाइल फोन का आविष्कार कर डाला | और जाने

भारत देश में मोबाइल फोन आना कब शुरू हुए

वेसे मेंने आपको बता ही दिया कि मोबाइल फोन का आविष्कार सन 1983 में हुआ था परंतु क्या आप जानते है भारत में मोबाइल फोन कब आया? मैं आपको बताना चाहूँगा कि भारत में सन 1995 में पहली मोबाइल सर्विस चालू हुई | 1995 से लेकर आज तक भारत में कई सारी सेलुलर कंपनियाँ आई जिसमें से वर्तमान में JIO ने अपनी धाक जमाई हुई है |

वर्तमान में भारत में अधिकतर ग्राहक केवल और केवल जियो के है तथा एयरटेल व आइडिया को पीछे छोड़ते हुए no. 1 पर जियो कंपनी बनी हुई है | मैं आपको यह भी बता दूँ कि अगले 1-3 साल के अंदर-अंदर ही इंडिया में 5G की सेवाएँ भी शुरू हो जाएगी जिससे इंटरनेट की स्पीड 4G से कई गुना बढ़ जाएगी |

मोबाइल फोन के आविष्कार के बाद किस प्रकार के फोन बाजार में आए

मोबाइल के आविष्कार के बाद कई प्रकार के मोबाइल बने जिसमें से अधिकतर मोबाइल फोन का विस्तार से यहाँ पर वर्णन किया जा रहा है-

की पैड फोन (keypad mobile phone)

मैं आपकों बता दूँ कि शुरूआती दिनो में केवल keypad फोन ही बाजार में उपलब्ध से जिसमें केवल कॉल करने की सुविधा ही दी गयी थी | इसमें contact सेव किए जा सकते थे और calculator, calendar इत्यादि सामान्य feature ही दिये गए थे |

Key pad mobile ka aavishkar kisne aur 
kab kiya

टच स्क्रीन मोबाइल (touch screen mobile)

की पैड फोन के बाद में जैसे ही नयी टेक्नोलोजी आई तो टच स्क्रीन फोन बाजार में आने लगे जिसमें की पैड के बजाय टच की सुविधा दी गयी थी | इसमें कुछ और नए feature जोड़ दिये गए जैसे कि कैमरा, mp3 प्लेयर इत्यादि |

smart mobile ka aavishkar kisne aur 
kab kiya

क्या आप hlw का फुल फॉर्म जानते है?

स्मार्ट फोन (smartphone)

धीरे धीरे टेक्नोलोजी इतनी आगे पहुँच गयी थी, बाजार में स्मार्ट फोन आने लगे | इस मोबाइल में लगभग सारी सुविधाएं उपलब्ध कारवाई गयी है | यह वही फोन है जो आजकल हम सभी use कर रहे है जैसे कि Andriod smart phone, iphone, ब्लेकबेरी इत्यादि | हो सकता है कि आने वाले युग में कोई और ही नए प्रकार के फोन बाजार में आने लग जाये क्योंकि टेक्नोलोजी के इस युग में नयी-नयी टेक्नोलोजी आती जा रही है और आती रहेगी |

तो दोस्तों में आपको यह भी बताना कहूँगा कि वर्तमान में चाइना में सबसे ज्यादा मोबाइल फोन का उत्पादन हो रहा है तथा भारत में सबसे अधिक मोबाइल फोन user है | इस प्रकार आज मैंने आप्क mobile phone ka aavishkar kisne kiya और कब किया, के बारे में विस्तार से बताया है |

Leave a Comment