नर्स का फुल फॉर्म क्या है (Nurse full form) | एएनएम और जीएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म

मुझे पता है नर्स का नाम आपने सुना ही होगा परंतु नर्स का हिन्दी में फुल फॉर्म भी होता है? क्या आपने यह पहली बात सुना है | जी हाँ, नर्स का फुल फॉर्म (nurse ka full form) भी होता है | आज हम यहाँ पर इसी नर्स के फुल फॉर्म के बारे में विस्तार से बात करने जा रहे है |

इंसान कभी न कभी बीमार होता ही है | बीमारी की स्थिति में वह अस्पताल में जाकर डॉक्टर को दिखाता है | कई बार ऐसी नोबत आती है कि उसे अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है |

भर्ती के दौरान नर्स मरीज की देखभाल करती है | डॉक्टर द्वारा बताए गए सभी उपचार व दवाइयाँ एक निश्चित समय पर मरीज को देती रहती है | क्या आपने नर्स का फुल फॉर्म पता है? यदि नहीं तो आज मैं यहाँ पर नर्स का फुल फॉर्म हिन्दी में बताने जा रहा हूँ |

nurse full form

नर्स फुल का फॉर्म (Nurse full form)

नर्स एक अँग्रेजी भाषा का शब्द है | यह शब्द अँग्रेजी के कुल 5 अक्षरों से मिलकर बना है | नर्स का फुल फॉर्म Nobility utility responsibility sympathy efficiency होता है | जिसे निम्ननानुसार भी लिखा जा सकता है |

Nurse full form (नर्स का फुल फॉर्म)
NNobility
UUtility
RResponsibility
SSympathy
EEfficiency

नर्स के प्रत्येक अक्षर का अलग-अलग मतलब निकलता है | तथा इसी के आधार पर नर्स का फुल फॉर्म बताया गया है | और जाने

Nurse full form in Hindi (नर्स का फुल फॉर्म हिन्दी में)

ऊपर बताया गया नर्स का फुल फॉर्म अँग्रेजी में था | अब मैं आपको नर्स का हिन्दी में फुल फॉर्म बताने जा रहा हूँ |

नर्स का फुल फॉर्म हिन्दी में श्रेष्ठता, उपयोगिता, ज़िम्मेदारी, सहानुभूति कार्य कुशलता होता है | यह नर्स के विभिन्न कार्य के आधार पर बनाया गया है | क्योंकि नर्स अपने कार्य के प्रति हमेशा श्रेष्ठता रखती है | अपने कार्य की उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए हॉस्पिटल में अपना कार्य ईमानदारी के साथ करती है | मरीज की देखभाल करने को अपनी ज़िम्मेदारी समझती है और अपनी यह ज़िम्मेदारी बखूबी निभाती है |

जरूरत पड़ने पर मरीज तथा मरीज के साथ उसके परिवार को सहानुभूति प्रदान करने का कार्य भी करती है | और अपनी कार्य कुशलता का शत प्रतिशत देती है | हम यह कह सकते है कि हॉस्पिटल में नर्स के बगैर डॉक्टर का कार्य बिंल्कुल अधूरा है | क्योंकि नर्स डॉक्टर के सहायक के रूप में कार्य करती रहती है |

नर्स कैसे बने (how to become a Nurse)

आपके मन में यह खयाल आ रहा होगा कि नर्स कैसे बना जा सकता है | तो मैं आपको बता दूँ कि नर्स बनने के लिए बारहवीं कक्षा के बाद आपको नर्स के कोर्स में दाखिला लेना होता तथा इन कोर्स के बाद आप किसी भी हॉस्पिटल में नर्स बन सकती है |

नर्स बनने के लिए निम्नलिखित कोर्स करने पड़ने है –

  • BSC nursing
  • MSC nursing
  • ANM course
  • GNM course

क्या आपको इस कोर्स के बारे में पता है ? क्या एएनएम नर्स व जीएनएम नर्स क्या होती है ? आप जानते है | यदि नहीं तो मैं आपको एएनएम नर्स व जीएनएम नर्स के फुल फॉर्म के साथ इनका मतलब बताने जा रहा हूँ |

एएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म (ANM nursing full form)

जिस लड़की ने एएनएम का कोर्स कर लिया है तथा अब हॉस्पिटल में नर्स का कार्य कर रही है तो उसे एएनएम नर्स बोला जाता है |

एएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म Auxiliary Nurse Midwifery होता है | यदि हम हिन्दी में बात करे तो एएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म हिन्दी में ऑग्जिलरी नर्स मिडवाइफरी होता है |

जीएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म (GNM nursing full form)

अब हम बात करने वाले है जीएनएम नर्स की | जिस लड़की ने जीएनएम का कोर्स कर लिया है तथा इस कोर्स के माध्यम से किसी अस्पताल में नर्स के रूप में काम कर रही है तो उसे जीएनएम नर्स कहा जाता है |

जीएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म General Nursing Midwifery होता है | यदि हम हिन्दी में बात करे तो एएनएम नर्सिंग का फुल फॉर्म हिन्दी में जनरल नर्सिंग मिडवाइफरी होता है |

यह भी पढे- एसडी कार्ड का फुल फॉर्म

नर्स के कार्य (Work of Nurse)

हमने नर्स के फुल फॉर्म, नर्स के प्रकार इत्यादि के बारे में विस्तार से बात कर ली है | अब मैं आपको नर्स के महत्वपूर्ण कार्य के बारे में बताने जा रहा हूँ |

  • मरीजों के मेडिकल इतिहास और लक्षण का रिकॉर्ड रखना।
  • रोगी की स्थिति का आकलन करना |
  • मरीजों की देखभाल करना।
  • रोगियों का निरीक्षण करना |
  • टिप्पणियों को रिकॉर्ड करना।
  • डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों के साथ परामर्श करना।
  • चिकित्सा उपकरणों का संचालन और निगरानी करना।
  • नैदानिक परीक्षण करने में मदद करना और परिणाम का विश्लेषण करना।
  • मरीजों और उनके परिवारों के बीच जागरूकता पैदा करना कि वे अपनी बीमारियों या चोटों का प्रबंधन कैसे करें।
  • उपचार के बाद घर की देखभाल के बारे में जानकारी देना।
  • नर्स कोई भी रोगी आये उस से सभी ब्यौरा डिटेल लेती है।
  • अपने से बड़ो यानी डिग्री व स्टाफ में बड़े का आदर करना|
  • रोगी की समय पर देखभाल करना।
  • रोगी देखभाल की योजना बनाने के लिए डॉक्टर्स की के साथ सहयोग करना।
  • रोगी के स्वास्थ्य की निगरानी कर रिकार्ड्स को तैयार करना ।
  • दवाओं और उपचारों को मैनेज करना।
  • चिकित्सा उपकरण संचालित करना।
  • डायग्नोस्टिक टेस्ट करना।
  • रोगियों को बीमारियों से लड़ने एवं जागरुक बनने में शिक्षित करना।
  • रोगियों को सहायता और सलाह प्रदान करना।

अंतिम शब्द

आज मैंने आपको नर्स का फुल फॉर्म (nurse full form), एएनएम नर्स का फुल फॉर्म तथा जीएनएम नर्स का फुल फॉर्म बताया है आपको जरूर पसंद आया होगा | यदि हाँ तो आप कमेन्ट में जाकर अपने विचार व्यक्त कर सकते है |

Leave a Comment