पीजी का फुल फॉर्म क्या होता है? (PG full form in Hindi)

दोस्तों क्या आप पीजी का फुल फॉर्म ढूंढ रहे है? यदि हाँ तो आप सही जगह आए है | इस पोस्ट मैं पीजी का फुल फॉर्म हिन्दी में एक सरल भाषा में बताया है | इसके साथ ही पीजी कोर्स के प्रकार, पीजी करने के लिए आवश्यक व योग्यता कोनसी जरूरी होती है, के बारे में विस्तृत में बताया गया है |

PG ka full form in Hindi

पीजी का फुल फॉर्म क्या होता है (PG full form in Hindi)

मैं आपको बताना चाहूँगा कि पीजी का फुल फॉर्म पोस्ट ग्रेजुएट होता है | यदि हम पीजी के हिन्दी में फुल फॉर्म की बात करे तो पीजी का फुल फॉर्म हिन्दी में स्नातकोत्तर होता है |

ज़्यादातर लोग पीजी का हिन्दी में फुल फॉर्म नहीं जानते है क्योंकि पीजी को पोस्ट ग्रेजुएट के नाम से ही बोलते है |

पोस्ट ग्रेजुएट एक कॉमन शब्द बन गया है क्योंकि स्नातकोत्तर बोलने पर लोग समझ ही नहीं पाते कि वास्तव में स्नातकोत्तर क्या होता है | जब उन्हें बताया जाता है कि पीजी (पोस्ट ग्रेजुएट) को हिन्दी में स्नातकोत्तर कहते है | तब जाकर उनके समझ आता है कि पीजी का फुल फॉर्म हिन्दी में स्नातकोत्तर होता है |

यह भी पढे-

पीजी में कोन कोनसे कोर्स होते है?

सामान्यता पीजी का कोर्स विषयवार होता है | विषयवार मतलब यह है कि पीजी का कोर्स एक विशेष विषय में ही किया जाता है | जैसे कि यदि किसी विद्यार्थी के पास आर्ट्स विषय होता है तो आर्ट्स में आने वाले विषय मे से किसी एक विषय मे पीजी कोर्स होता है | जैसे कि Post graduate in Political Science

आर्ट्स विषय में जितने भी विषय होते है यदि उनमे से किसी भी एक विषय पर विद्यार्थी पीजी का कोर्स कर लेता है को वह पोस्ट ग्रेजुएट इन आर्ट्स कहलाता है |

इसी प्रकार कॉमर्स एवं विज्ञान के किसी भी विषय में पीजी कोर्स कर लेने पर विद्यार्थी का वह कोर्स पोस्ट ग्रेजुएट इन कॉमर्स एवं पोस्ट ग्रेजुएट साइन्स कहलाता है |

यह भी पढे- पागल का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीजी कोर्स करने के लिए योग्यता

पीजी का मतलब स्नातकोत्तर | इस कोर्स को पास कर पीजी की डिग्री लेने के लिए आपको पीजी कोर्स करवाने वाले कॉलेज में एड्मिशन लेना होगा है | कॉलेज में पीजी कोर्स करने के लिए वही विद्यार्थी एड्मिशन लेने हेतु फॉर्म भर सकता है जो कि पहले यूजी कोर्स किया हुआ हो | UG का मतलब BSC, BA या B.Com कोर्स |

यूजी डिग्री धारक विद्यार्थी ही पीजी कोर्स करने हेतु कॉलेज में एड्मिशन ले सकता है | बिना यूजी किए हुए पीजी कोर्स नहीं किया जा सकता है |

यह भी पढे- सीआईडी का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीजी (स्नातकोत्तर) के अन्य नाम

अब आप यह तो जान ही गए है कि पीजी का फुल फॉर्म हिन्दी में स्नातकोत्तर होता है | तकोत्तर के अलावा इस बोलचाल की भाषा में इसे मास्टर डिग्री के नाम से भी जाना जाता है |

स्नातकोत्तर धारक विद्यार्थी के लिए ऐसा माना जाता है कि ये अब किसी भी विद्यालय में 12 वीं कक्षा के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए तैयार है |

स्नातकोत्तर या मास्टर डिग्री कोर्स को कर लेने के बाद वह विद्यार्थी उस विषय का पूर्ण ज्ञाता हो जाता है जिस विषय में पीजी किया गया हो | इसी कारण सीबीएसई स्कूल में 11 वीं एवं 12 वीं कक्षा मे अध्यापक की  भर्ती के लिए निकाली जाने वाली विज्ञप्ति में पीजी कोर्स शैक्षणिक योग्यता में रखा जाता है |

यह भी पढे- एचयूएच का फुल फॉर्म क्या होता है?

पीजी डिग्री कहाँ से करे?

भारत के सभी राज्यों में ऐसे कई सारे कॉलेज उपलब्ध है जो पीजी कोर्स करवाते है | कुछ कॉलेज अथवा उनिवर्सिटी में इस कोर्स मे एड्मिशन लेने से पूर्व एक्जाम रखा जाता है | यह एक्जाम पास करने के पश्चात ही पीजी मे एड्मिशन होता है |

अधिकतर कॉलेज में आर्ट्स के विषयों में ही पीजी कोर्स करवाया जाता है | कुछ कॉलेज में आर्ट्स के विषयों के साथ साथ साइन्स के विषयों में भी पीजी का कोर्स करवाया जाता है |

भारत में अधिकतर लोगों द्वारा निम्नलिखित विषयों पर पीजी कोर्स (स्नातकोत्तर-पीजी फुल फॉर्म) करवाया जाता है-

  • Master in Arts (Hindi, पॉलिटिकल साइन्स, भूगोल, इतिहास )
  • Master in Science (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, बॉटनी, बायोटेक्नालजी, इत्यादि)
  • Master in कॉमर्स

अंतिम दो लाइन

दोस्तों आप मैंने आपको पीजी का फुल फॉर्म इन हिन्दी (PG full form in Hindi) में एकदम सरल भाषा में बताया है जिसे पढ़कर आप पीजी के बारे में सारी जानकारी जान गए है | ऐसी सरल हिन्दी भाषा में जानकारी जानने के लिए इस वैबसाइट को रोजाना खोलते रहे | मैं यहाँ पर इसी प्रकार सरल भाषा में केवल हिन्दी में जानकारी देता हूँ |

Leave a Comment