टॉप 10+ कड़वी मगर जिंदगी की सच्ची बातें (Zindagi Ki Sachi Baatein)

हम सब जानते है कि इस दुनिया में जिंदगी जीना कितना मुश्किल है | यदि आप जिंदगी की सच्ची बातें (Zindagi Ki Sachi Baatein) जान लेंगे तो आपकी ज़िंदगी आसानी से निकल जाएगी | इसलिए मैं आज यहाँ पर कड़वी मगर ज़िंदगी की सच्ची बातें आपको बताने जा रहा हूँ |

आपको इन सच्ची बातों को हमेशा ध्यान में रखना होगा | सच्ची बातें आपको ज़िंदगी जीने का नया नजरिया सिखाएगा | आप नीचे लिखी जिंदगी की सच्ची बातों को अपने दोस्तों के साथ Instagram पर शेयर कर सकते है |

जिंदगी की सच्ची बातें (Zindagi Ki Sachi Baatein)

जिसको जो कहना है कहने दो,
अपना क्या जाता है,
ये वक्त वक्त की बात है,
और वक्त सबका आता है।

मेहनत करने वाला कभी भूखा नहीं मरता,
और बेकार नियत वाले का पेट कभी भर नहीं सकता।

कल मेरा था, आज तुम्हारा है,
कल किसी और का होगा,
जरा सोच कर बताना,
वक्त कब किसका हुआ।

Zindagi Ki Sachi Baatein

सोच समझ कर रुठना चाहिए अपनों के साथ,
क्योंकि मनाने का रिवाज आजकल खत्म होता जा रहा है।

शिकायत तो बहुत है तेरे से ऐ जिंदगी,
पर चुप इसलिए ही क्योंकि,
जो तूने मुझे दिया है वह बहुतों के नसीब में नहीं।

इस छोटी सी जिंदगी में,
एक बड़ा सबक मिला है,
कि रिश्ता तो सबसे रखो,
पर उम्मीद किसी से मत रखो।

इंसान सिर्फ एक ही बात से अकेला पड़ जाता है,
जब उसके अपने ही उसे गलत समझने लगे।

यह भी पढे- मतलबी पैसे की दुनिया है शायरी

कड़वी मगर जिंदगी की सच्ची बातें

जिंदगी में कभी किसी को बेकार मत समझो,
क्योंकि बंद पड़ी घड़ी भी दिन में दो बार सही समय बताती है।

कुछ रिश्ते भगवान खराब करते है ताकि,
हमारी जिंदगी खराब न हो।

चिंता मत करो,
समय चाहे जितना भी बुरा क्यों ना हो,
बदलता जरूर है।

रिश्ते निभाने के लिए बुद्धि नहीं,
दिल की शुद्धि होनी चाहिए।

कड़वी मगर जिंदगी की सच्ची बातें

जिंदगी में तूफान आना भी लाजमी है,
पता चल जाता है कि कौन साथ है और कौन नहीं है |

मरने वालों को रोने वाले हजार मिल जाएंगे,
मगर जो जिंदा है उसे समझने वाला एक भी नहीं मिलता।

इंसान खुद को नजर में सही होना चाहिए,
दुनिया तो भगवान से भी दुखी है।

किसी भी चीज की चिंता करने के लिए जीवन बहुत छोटा है,
इसका आनंद लेना बेहतर है |

तुम नीचे गिर के देखो,
कोई नहीं आएगा उठाने,
तुम जरा उड़कर तो देखो,
सब आयेंगे गिराने को।

जिंदगी की सच्ची बाते हिन्दी में (Zindagi ki sachi baatein in hindi)

जब जिंदगी आपको रोने की सौ वजहें दे,
जिंदगी को दिखाओ कि,
तुम्हारे पास मुस्कुराने की हजार वजहें हैं।

जहां विश्वास हो,
वहां सबूतों की जरूरत नहीं होती।

दुआएं मांगने से किसका भला होता है,
मिलता तो वहीं है जो हमने बोया होता है।
यही है जिंदगी की सच्ची बाते |

सहारे ढूंढने की आदत नहीं हमारी,
हम अकेले पूरी महफ़िल के बराबर है।

रिश्ता चाहे कोई भी हो,
पासवर्ड एक ही होता है,
“विश्वास” 

जितना गहरा रिश्ता उतनी ज्यादा उम्मीद,
उम्मीद जितनी ज्यादा उतनी गहरी चोट।

खुश रहना है तो चुप रहना सिखो,
क्योंकि खुशियों को शोर पसंद नहीं। 

टॉप 10 जिंदगी की सच्ची बातें

बात करने के लिए वक्त और शब्द नहीं,
बल्कि मन होना चाहिए।

मुश्किल में साथ छोड़ देने वाला कितना भी अपना क्यों न हो,
दिल से उतर ही जाता है।

लोगों को वक्त देना सीखो,
रिश्ता खुद मजबूत हो जाएगा।

जो रिश्ता कम और गुरूर ज्यादा रखे,
ऐसे लोगो को दिल से दूर रखे।

हजार चाहने वालों से,
एक “निभाने” वाला बेहतर होता है |

कमज़ोर कोई नहीं होता,
सब वक्त का खेल है साहब।

उनके दिल में बहुत कुछ होता है,
जिनकी जेब में कुछ नहीं होता।

top 10 Zindagi Ki Sachi Baatein

अक्सर अकेलेपन से वही गुजरता है
जो ज़िन्दगी में सही फैसलों को चुनता है।

समझदार इंसान से की गई कुछ मिनट की बात,
हजारों किताबें पढ़ने से बेहतर होती है |

नियत और सोच अच्छी होनी चाहिए,
बातें तो कोई भी अच्छी कर सकता है |

आज मैंने यहाँ पर जिंदगी की सच्ची बातें (Zindagi Ki Sachi Baatein) बताई है | ये सच्ची बातें आपके जीवन से जरूर काम आने वाली है | टॉप 10 कड़वी मगर जिंदगी की सच्ची बातें हमेशा याद रखे और अपनी ज़िंदगी अच्छे से जिये |

Leave a Comment